Grab the widget  Get Widgets

ity

रविवार, 16 नवंबर 2014

Saheli,bahan ki, ke Sath Maje ki Chudai

Bahan ki Saheli ke Sath Maje ki Chudai
हैलो मेरा नाम आनन्द है। मैं जो कहानी आपको बताने जा रहा हूँ वो एकदम सत्य तो है ही, साथ ही यह घटना मेरे साथ सिर्फ़ 6 दिन पहले हुई है।
तो हुआ यह कि मैं अपने कंप्यूटर पर बैठा ब्लू-फिल्म देख रहा था, तभी कुछ देर में मेरे पापा आ गए, मैंने सब बंद कर दिया।
वे बोले- चलो आज सबको घुमा कर लाते हैं।
मैंने सोचा अगर मैं गया तो सारा मज़ा बेकार हो जाएगा, इसलिए मैंने जाने से मना कर दिया।
सब चले गए, मैं घर में अकेला था, मैंने फिर से ब्लू-फिल्म चालू कर दी।
तभी मेरी बहन की सहेली उसे पूछने आ गई कि मेरी बहन कहाँ है?
मैंने कहा- सब बाहर गए हैं।
तो उसने मुझसे पूछा- तुम क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- कंप्यूटर पर बैठा हूँ  तो बोली- मैं अपनी मेल चैक कर लूँ?
मैंने ‘हाँ’ कह दिया।
मैंने कहा- तुम अपना काम करो.. मैं ज़रा टॉयलेट से हो कर आता हूँ।
जब मैं आने को हुआ तो मुझे याद आया कि मैंने वीडियो प्लेयर बंद नहीं किया था और नीलम सब कुछ देख रही थी।
मैं उसे खिड़की से देखता रहा।
उसका चेहरा कंप्यूटर की तरफ़ होने से उसने पीछे नहीं देखा कि मैं पीछे खड़ा हूँ।
वो सब कुछ देख रही थी और बहुत गर्म हो चुकी थी। इतने में उसने अपने मम्मे ऊपर से दबाने शुरु कर दिए।
मेरा लंड खड़ा हो चुका था और मैं तो पक्का फ़ैसला कर चुका था कि हो ना हो, ये आज मुझसे चुद कर ही जाएगी।
फिर मैं थोड़ा और पीछे चला गया और मैंने हल्की सी आवाज़ निकाली, वो समझ गई कि मैं आ रहा हूँ।
उसने प्लेयर बंद कर दिया।
मैं आया तो उससे पूछा- मेल चैक कर लिए?
तो बोली- हाँ.. कर लिए।
फिर मैंने हिम्मत बांध कर उससे कह ही दिया- नीलम तुम जो देख रही थी वो मैं पीछे खिड़की के पास खड़ा होकर देख रहा था।
तो वो शर्म गई और कुछ नहीं बोली।
मैं समझ गया कि मामला फ़िट हो गया।
मैंने दोबारा ब्लू-फिल्म चालू कर दी, अब हम दोनों देखने लगे।
वो तो गर्म हो ही चुकी थी।
तभी मैंने कहा- देखती ही रहोगी या फिर?
तो वो हल्की सी मुस्कुराहट लाई।
मैंने तभी बिना वक्त गंवाए किए उसकी जांघ पर हाथ रख दिया।
उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया।
फिर मैं अपने हाथ को धीरे-धीरे उसके ऊपर की तरफ़ लाने लगा।
उसके मम्मों को दबाना शुरु किया, फिर उसे चुम्बन करने लगा।
फिर मैंने उसका एक हाथ अपने लंड पर रख दिया, वो उसके साथ खेलने लगी।
करीब 5 मिनट तक हम चुम्बन करते रहे।
फिर मैं उसे बिस्तर पर ले आया और धीरे-धीरे उसके कपड़े उतारने लगा।
मैंने पहले उसका कमीज उतारा तो उसकी ब्रा दिखने लगी।
मैंने उसकी ब्रा भी उतार कर उसकी चूचियाँ मसल दी।
उसके मुँह से अजीब-अजीब सी आवाज़ें निकालने लगी.. मानो कह रही हो कि मेरी चूत को जल्दी शांत करो।
उसके रस से भरे मम्मों को देख कर मैं दंग रह गया। मैंने उसको चाटना शुरु कर दिया।
तो बोली- पहले कपड़े तो उतार लो।
फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार उतार दी।
उसने काले रंग की पैंटी पहनी थी। फिर मैंने उसे मेरे कपड़े उतारने को कहा तो उसने पहले मेरी पैंट, फिर कच्छा उतारा।
मैं बनियान में था तो बनियान मैंने खुद उतार दी।
अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे। पहले मैंने उसकी चूत चाटनी शुरु कर दी।
तो वो बोली- यह क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- असली मज़ा तो इसी में है।
उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं, कहने लगी- खा जाओ, फाड़ डालो मेरी चूत को और आऊऊ ज़ोर से… आअह्ह्ह ह्म्म..’
फिर मैंने अपना 6′ इंच का लंड उसके हाथ में दे दिया और कहा- इसे चाटो।
उसने फ़टाफ़ट अपने मुँह में ले लिया और चाटने लगी।
मेरे लंड से हल्का-हल्का पानी निकलने लगा, मैंने कहा- ये अमृत है इसे पी जाओ।
वो पीकर बोली- खट्टा-खट्टा है।
फिर मैं उसके पैरों के पास गया और उसकी टांगें फ़ैला दीं और उससे कहा- अपनी चूत का छेद खोलो।
उसने अपने चूत का छेद और चौड़ा कर दिया।
फिर मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा तो उसके मुँह से ‘आआह्ह्ह’ की आवाज़ निकली।
मैंने एक झटका दिया और आधा लंड उसकी चूत में अटक गया, तो वो चिल्ला पड़ी और बोली- बाहर निकालो.. प्लीज बहुत दर्द हो रहा है।
मैं कुछ देर हल्के-हल्के झटके देता रहा उसकी चूत से खून निकलने लगा, मगर उसने नहीं देखा।
फिर जब वो पूरे जोश में आ गई तो मैंने एक तगड़ा झटका और दिया और पूरा 6′ का मेरा लंड उसकी चूत में घुस गया और वो फिर से चिल्लाई।
मगर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे चिल्लाने नहीं दिया।
कुछ देर तक उसको चूमने और चूसने के बाद वो और गरम हो गई। उसके मुँह से आवाज़ निकली- और घुसाओ..और ज़ोर से..चोदो..
मैंने अपनी रफ़्तार और बढ़ा दी अब वो भी अपने चूतड़ उठा-उठा कर साथ देने लगी और हमारी आवाज़ें निकलती रहीं ‘आअह्ह ह्हह अह्ह मम्म.. हये मार डाला… और ज़ोर से…’
उसका पूरा छेद मैंने फ़ाड़ डाला।
करीब आधे घंटे बाद उसका पानी निकल गया मगर मैं उसे कुछ देर तक और चोदता रहा, फिर मेरा भी पानी निकल गया।
मैंने अपना सारा माल उसके मुँह में डाल दिया और उसे पिला दिया।
फिर मैंने उसे अपना लंड चाटने को कहा तो बोली- अब तो मैं चुद चुकी हूँ, अब क्या?
तो मैंने कहा- दोबारा मेरा लंड खड़ा करो।
हम दोनों 69 की अवस्था में हो गए, मेरा लंड फिर खड़ा हो गया।
मैंने अब उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी गांड में एक हल्का सा झटका दिया और उसकी तो मानो जान ही निकल गई हो मगर मैं हटा नहीं।
थोड़ी देर ऐसे ही रहा।
फिर थोड़ी देर बाद एक ज़बरदस्त झटका दिया और उसका मुँह अपने हाथ से बंद कर दिया। उसकी हालत तो ऐसी हो गई मानो मरने ही वाली हो।
फिर मैं ऐसे ही झटके मारता रहा। फिर वो भी मज़े लेने लगी- आआह्हह्ह..ह्हह्हह घुसाओ फ़ाड़ो और अपना पूरा बम्बू मेरी चूत में घुसा दो..और ज़ोर से..
करीब दस मिनट बाद मैंने पानी छोड़ दिया और सारा वीर्य उसकी गांड में छोड़ दिया।
फिर मैं उसे चुम्बन करता रहा और थोड़ी देर हम ऐसे ही लेटे रहे।
फिर उस दिन से मैंने उसे चोदने का सिलसिला रोज़ शुरु कर दिया। जो शायद अब उसकी शादी पर ही खत्म होगा।

शुक्रवार, 11 जुलाई 2014

चोद लो मेरी बीवी

अरे यार, मैं कह रहा हूँ न ? एक दिन चोद लो मेरी बीवी और अगर तुम्हे चोदने में मज़ा आये तो आगे भी चोदते रहना ? इसमें कुछ सोंचने समझने की जरुरत नहीं है।  चाहो तो मेरे घर में ही चोदो मेरी बीवी और चाहो तो अपने घर ले जाकर चोदो मेरी बीवी ? एक बार जब तेरे मन में मेरी बीवी चोदने की इच्छा हो गयी है तो फिर उसे पूरा करो ? मैं तो बहुत खुश हूँगा अगर तुम मेरी बीवी चोदोगे ? मैं एक बात का वादा करता हूँ की मेरी बीवी मस्त होकर चुदवायेगी तुमसे ?
यह फोटो देख रहो न ? इसमें मेरी बीवी मेरे एक दोस्त से चुदवा रही है। देखो न कितने मजे से और कितने प्यार से अपनी दोनों टांगें फैलाये हुए उसका लौड़ा अपनी चूत में घुसेड़ कर चुदवा रही है।  बोलती भी जा रही है, हाय मेरे राजा जोर जोर से चोदो मुझे ? पूरा लौड़ा घुसेड़ के चोदो, बहन चोद ? धकाधक चोदो मेरी चूत, भोसड़ी के ? बस, तुम भी इसी तरह का मज़ा लो मेरी बीवी चोद कर ?
मैं राजेश हूँ और अपने दोस्त संजय को समझा रहा हूँ।  इस समय संजय मेरे घर में बैठा हुआ है और मेरे साथ व्हिस्की पी रहा है।  पी तो मेरी बीवी भी रही है व्हिक्सी हम दोनों के साथ,  लेकिन बीच बीच में वो किसी काम से उठ कर चली जाती है। जब वह चली जाती है तब मैं संजय को अपनी बीवी चोदने के लिए उत्साहित करता हूँ। दरअसल, उसने पीते पीते मेरी बीवी की तारीफ की और उसको कई बार एकटक देखता भी रहा ? उसकी नज़रें मेरी बीवी की चूंचियों पर बार बार टिक भी जाती थी तो मैं समझ गया की ये मेरी बीवी चोदने की इच्छा रखता है पर संकोच बस कह नहीं पा रहा है। मैं उसकी झिझक दूर करना चाहता हूँ।  उसका संकोच मिटाना चाहता हूँ और उसे सच बोलने के लिए उकसा रहा हूँ।  मेरे मन में भी कुछ है। मैंने उसकी बीवी देखी है और मैं भी उसकी बीवी चोदने की इच्छा रखता हूँ।  कह मैं भी नहीं पाया संजय से कभी की मैं तेरी बीवी चोदना चाहता हूँ।  अब मैं सोंचता हूँ की अगर संजय मेरी बीवी चोदने लगे तो मैं उसकी बीवी आसानी से चोद सकता हूँ। मेरे बार बार कहने के बावजूद उसकी हिम्मत नहीं हुई और वह खाना खाकर वापस चला गया।
एक दिन मैं शॉपिंग के लिए एक मॉल में घूम रहा था।  वहां अचानक मेरा एक पुराना दोस्त राका मिल गया।
मैंने उसके कंधे पर हाथ मार कर कहा :- यार राका तू कब आया विदेश से ?
वह बोला :- अरे वाह राजेश, अभी एक हफ्ता पहले ही आया हूँ यार तुम कैसे हो दोस्त ? बहुत दिनों के बाद मिल रहे हो ?
मैंने कहा :- अच्छा हूँ यार ? तुम बोलो नेहा भाभी कैसी है ?
उसने कहा :- हां बिलकुल ठीक ठाक है तेरी नेहा भाभी ?  पर मेरी सीमा भाभी कहाँ है, राजेश ?
मैंने कहा :- आजकल वह माईके गयी है अपनी ।   चोदी
वह बोला :- तो तुम मेरे साथ मेरे घर चलो वहां खूब बातें करेंगे।  नेहा भी खुश हो जाएगी तुमसे मिलकर ?
शाम के करीब ८ बजे थे मैं उसके घर चला गया।  मैं जब नेहा भाभी से मिला तो उसे देखता ही रह गया।  बड़ी मस्त हो गयी थी नेहा भाभी ? मजे की गदरा  गयी थी और चूंचियां तो बड़ी बड़ी हो गयी थी गांड भी खूब उभर आयी थी और उसकी गुन्दाज़ बाहें भी बड़ी सेक्सी लग रही थी। मेरा तो दिल आ गया उस पर और मेरा लण्ड साला अंदर ही अंदर उछल कूद करने लगा ? हम लोग बैठे तो भाभी ने व्हिक्सी का इंतज़ाम कर दिया और खुद भी पीने बैठ गयी।  मैंने देखा की भाभी पहले से काफी खुल चुकी है। अब तो बिलकुल भी झिझक नहीं करती है और न ही शर्माती है।  बातें भी शुरू हो गयी।
  • मैंने पूंछा - यार,कितने साल तुम रहे अमेरिका में ?
  • वह बोला - ४ साल रह कर आया हूँ यार ? बड़ा मज़ा आया वहां रह कर ?
  • नेहा - हां यार राका वहां का तो रवैया ही कुछ अलग तरह का है। हम लोग यहाँ शर्माते है, झिझकते है, घबराते है, समाज से बहन चोद डरते है ? वहां इन सब चीजो को कमजोरी माना जाता है।  ऐसे आदमी को कोई पूंछता ही नहीं वहां ? इसलिए मैं भी बिलकुल बिंदास हो गयी हूँ।  अब मैं भी किसी भोसड़ी वाले से हीं डरती ? (भाभी के मुंह से निकली गालियां मुझे बहुत अच्छी लग रही थी)
  • मैं - तो वहां के लोग कैसी ज़िन्दगी जीते है भाभी ?
  • नेहा - बड़ी मस्त ज़िन्दगी जीते है मादर चोद ? बड़े बड़े क्लब है, नाईट क्लब है, स्वैपिंग क्लब है, सकिंग एंड फकिंग क्लब है वहां सब कुछ खुल्लम खुल्ला होता है ? बस एक बार आपको मेंबर बनना पड़ता है ?
  • मैं - और क्या होता है भाभी ?
  • नेहा - और क्या बस ? पकड़ी पकड़ा, पेला पेली, चोदा चोदी और क्या ?
  • मैं - अरे वाह ? क्या वहां सब लोग अपनी अपनी बीवी सबके सामने ,,,,,,,,,,,है  
  • राका - अरे यार, अपनी अपनी बीवी नहीं ? दूसरों की बीवियां चोदते है भोसड़ी वाले वह भी ग्रुप में ?
  • मैं - वाओ, तो ऐसा होता है वहाँ ? पर यहाँ तो ऐसा नहीं होता यार ?
  • नेहा - तुम गलत फहमी में हो, राका ? यहाँ भी सब होता है पर खुल्लम खुल्ला नहीं अंदर ग्राउंड होता है। यहाँ भी लोग एक दूसरे की बीवियां चोदते है ? बीवियां एक दूसरे के मियां से चुदवाती है ?
  • मैं  - नहीं भाई ऐसा नहीं है ? मैं ऐसा नहीं मानता ?
  • नेहा - अरे यार राजेश , मैं तो हर दूसरे तीसरे दिन लोगों से चुदवा कर आती हूँ। मैं राका के सामने दूसरों से चुदवाती हूँ। मुझे तो पराये मर्दों के लण्ड का चस्का लग गया है, राजेश ? मैं तो यहाँ आकर गैर मर्दों से चुदवाने के लिए तड़पती रहती हूँ ?  मेरा हसबैंड दूसरों की बीवियां मेरे सामने चोदता है ? वह भी बिना किसी की बीवी चोदे रह नहीं सकता ? (मैंने नाटक किया और दाँतों तले उंगलियां दबा ली)
  • मैंने कहा :- यार मैंने तो बहुत कोशिश की पर मुझे कोई ऐसा नहीं मिला जिससे मैं अदला बदली कर सकूँ ?
इतने में नेहा भाभी किसी काम से अंदर चली गयी ।  राका बोला यार तुम मेरे साथ कर लो न अदला बदली ? मैंने कहा मेरी बीवी नहीं है यहाँ यार तो कैसे कर लूँ ? वह बोला कोई बात नहीं बस एक बार चोद लो मेरी बीवी बाकि अब ठीक हो जायेगा ? मैंने कहा भाभी मान जाएगी क्या राका ? वह बोला मैं अभी पूंछता हूँ उससे तुम चिंता न करो ? नेहा जब वापस आयी तो राका बोला नेहा राका की बीवी माईके गयी है तो यह कैसे कर सकता है अदला बदली ? वह बोली ऊँ हूँ तो क्या हुआ ये आज कर ले वो जब आएगी तब कर लेगी ? यह सुनकर मेरी तो ख़ुशी का ठिकाना न रहा ?
                                    नेहा भाभी बोली लो एक पैग व्हिस्की और पियो फिर मैं खोलती हूँ तेरा बहन चोद लण्ड ? 
मैंने भी गिलास उठाया और एक ही बार में गट गट करके पी गया शराब ? भाभी मुस्कराकर बोली वाओ, देखो राजेश को मुझे चोदने की कितनी जल्दी है ? मैंने मन में कहा हां जल्दी तो मुझे तेरे मुंह में लौड़ा घुसेड़ने की है बुर चोदी नेहा ? इतने में मैं नेहा भाभी और राका रिनो लोग बेड रूम में आ गए।  भाभी मेरे कपडे उतारने लगी मैंने कहा नहीं भब ही पहले मैं आपके कपडे उतारूंगा ? मुझे एक एक करके कपडे उतार कर तुम्हे नंगी करने में मज़ा आएगा ? मुझे शराब का नशा तो था ही  लेमिन उसके ऊपर नेहा की चूंची और चूत देखने का नशा ज्यादा था।  मैंने पहले साड़ी उतारी फिर उसका ब्लाउज़ खोला और फिर जैसे ही ब्रा की बटन खोली तो दोनों चूंचियां मेरे सामने तन कर खड़ी हो गयी। मैं मदहोश होने लगा ? मेरे हाथ उस पर चले गये ? मैं चूंचियां सहलाने लगा और उसकी चुम्मी लेने लगा ? तब मुझ्र ख्याल आया की अरे अभी तो इसकी चूत खोलनी है।  मैंने फ़ौरन पेटीकोट का नाड़ा खींच लिया तो बहन चोद नीचे एक पैंटी नज़र आ गयी।
                            मेरे मुंह से निकला बहन चोद एक चूत छुपाने के लिए कितने कपडे पहनती हो भाभी ? 
                            उसने कहा तुम भी तो भोसड़ी के एक लण्ड छुपाने के लिए कितने कपडे पहनते हो ?  
मैंने जब उसकी पैंटी भी उतार दी तो उसके अंदर से निकली चमचमाती हुई बिना झांट वाली एक मद मस्त चूत जिसे देख कर मेरा लौड़ा गनगनाने लगा ? मैंने पीछे मुड़ कर देखा की राका भी अपने सारे कपडे उतार कर नंगा खड़ा हुआ है।  बस इन दोनों को नंगा देख कर मेरी शर्म बिलकुल खत्म हो गयी।  मैं भाभी की चूंची और चूत दोनों सहलाने लगा ? 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

AddThis Smart Layers

ch 1

c

ch b